दिमाग़ी कमजोरी – Mental weekness Hindi


बहुत जटिल व पुरानी बीमारियां, जिनमें रोगी की जीवनी शक्ति क्षीण हो जाती है, स्नायुमंडल कमजोर हो जाता है, बहुत ज्यादा मानसिक परिश्रम, हस्तमैथुन, वंश परंपरा से आये दोष, आदि की वजह से दिमागी कमजोरी उत्पन्न हो सकती है।

● प्रमुख दवा (खासकर बढ़ती उम्र के नौजवानों में) – (एसिड फॉस Q, 5-10 बूंद, पानी के साथ)

● जब थोड़ी सी दिमाग़ी मेहनत से परेशानी लगे – (एसिड पिकरिक 30, दिन में 3 बार)

● जब परिश्रम करने की इच्छा न हो। अत्यधिक स्नायविक दुर्बलता – (फॉस्फोरस 30 या 200, की 3 खुराक)

● मितली, कलेजे में संकुचन, दम घुटे, जीभ साफ़ हो – (इपिकैक 6 या 30, 2-2 घंटे के बाद)

● निराशा, शोक व दुःख के कारण रोग। – (इग्नेशिया 30 या 200, दिन में 3 बार)

● मानसिक परिश्रम करने वाले, चिड़चिडे स्वभाव के रोगी जिन्हें अक्सर कब्ज रहता है – (नक्स वोमिका 30, दिन में 3 बार)

● बायोकैमिक औषधि – (काली फॉस 6X या फाइव फॉस 6X)